उत्तराखंड: अस्पताल में तीन दिन के शिशु की मौत

181
Almora news: अस्पताल में तीन दिन के शिशु की मौत

उत्तराखंड के पर्वतीय जनपदों को अधिकतर रेफर सेंटर कहा जाता है। अखबारों के पृष्ठों पर ऐसी खबरें आपको पढ़ने को मिल जाएंगी जहां अस्पताल से रेफर गर्भवती महिलाओं ने सड़क एंबुलेंस में बच्चों को जन्म दिया हो। कई बार जच्चा-बच्चा असमय ही काल के ग्रास बन जाते हैं तो कभी दोनों में से एक-दूसरे का चेहरा नहीं देख पाते। इसी तरह की दुखद खबर अल्मोड़ा से आ रही है जहां महिला अस्पताल में तीन दिन के शिशु की मौत हो गई। इस मामले में अस्पताल प्रबंधन कुछ भी कहने से बच रहा है। नवजात शिशु की मौत से परिवार का रो-रोकर बुरा हाल है।

यह भी पढ़ें- सड़क हादसे में कुमाऊं रेजिमेंट जवान की मौत, एक माह पहले हुई थी शादी 

जानकारी के अनुसार लमगड़ा ब्लॉक के जलना निवासी पूजा मेर पत्नी मनोज मेर की प्रसव पीड़ा होने पर महिला अस्पताल अल्मोड़ा में लाया गया था। जहां सामान्य प्रसव के बाद पूजा ने स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया था। शनिवार को जच्चा बच्चा को डिस्चार्ज किया जाना था। शनिवार के ही दिन पूजा तीन दिन के शिशु को दूध पिला रही थी और इसी दौरान उसका दम घुटने लगा। परिजन उसे चिकित्सक के पास ले गए लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। डिस्चार्ज होने से पहले ही बच्चे की मौत से कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। शिशु की मौत से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।