बदहाली: अस्पताल में ना नर्स ना मिली एंबुलेंस, गाड़ी में दिया बच्चे को जन्म

7
गर्भवती महिला को अस्पताल ने लौटाया, रास्ते में दिया बच्चे को जन्म

उत्तराखंड में स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाली एक बार फिर सामने आई है। ताजा मामला चंपावत जिले का है जहां गर्भवती महिला को अस्पताल में फार्मासिस्ट और नर्स नहीं होने की बात कहकर रेफर किया गया। एंबुलेंस नहीं होने की वजह से परिजन गर्भवती को निजी वाहन से लोहाघाट ले जा रहे थे लेकिन महिला ने आधे रास्ते में गाड़ी में बच्चे को जन्म दे दिया, जिसके बाद परिजन वापस गांव लौट गए। जच्चा-बच्चा स्वस्थ बताए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें- गर्भवती महिला को अस्पताल ने लौटाया, रास्ते में दिया बच्चे को जन्म

जानकारी के अनुसार शुक्रवार को रीठा साहिब क्षेत्र के सालगांव निवासी 31 वर्षीय पुष्पा देवी पत्नी गोविंद सिंह बोहरा की प्रसव पीड़ा होने के बाद रीठा साहिब अस्पताल लाया गया। जहां डॉक्टर ने फार्मेसिस्ट और नर्स ना होने का हवाला देते हुए प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर रेफर कर दिया।

एंबुलेंस नहीं होने की वजह से परिजनों ने गर्भवती को प्राइवेट वाहन से लोहाघाट ले गए लेकिन आधे रास्ते भिंगराड़ा के पास पुष्पा देवी ने गाड़ी में बच्चे को जन्म दे दिया। जिसके बाद परिजन आधे रास्ते से वापस गांव लौट गए।