बेरोजगारी की मार: ठेला लगाने के लिए पोस्ट ग्रेजुएट युवा कर रहे आवेदन

नैनीताल शहर के पर्यटक स्थलों पर ठेला फड़ लगाने के लिए ग्रेजुएट पोस्टग्रेजुएट समेत अन्य तकनीकी शिक्षा प्राप्त युवा भी आवेदन कर रहे हैं।

200
बेरोजगारी की मार: ठेला लगाने के लिए पोस्ट ग्रेजुएट युवा कर रहे आवेदन

उत्तराखंड में रोजगार को लेकर सरकार भले ही दावे करती हो लेकिन राज्य के युवाओं को रोजगार ढूंढने से भी नहीं मिल रहा है। एक तरफ उत्तराखंड में बेरोज़गारी दर दिसंबर माह में बढ़कर 4.2 फीसदी पहुंच गई है। वहीं शैक्षणिक योग्यता के अनुसार नौकरी नहीं मिलने पर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट युवा ठेला फड़ लगाने के लिए आवेदन कर रहे हैं। इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि नौकरियां नहीं होने से कैसे ग्रेजुएट एवं पोस्ट ग्रेजुएट दर दर भटक रहे हैं।

यह भी पढ़ें- haldwani encroachment: अतिक्रमण को लेकर आईजी नीलेश आनंद भरणे ने कही यह बात 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार नैनीताल शहर के पर्यटक स्थलों पर ठेला फड़ लगाने के लिए 370 से अधिक लोगों ने नगरपालिका में आवेदन पत्र जमा किए हैं हैरानी की बात यह है कि इसमें से 2 दर्जन से अधिक युवा ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट हैं। जी हां आपने बिल्कुल सही पढ़ा ठेला लगाने के लिए अब ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट आवेदन कर रहे हैं। पालिका अब जल्द ही इन आवेदकों के सत्यापन कराने जा रही है जिसके लिए टीम भी गठित की गई है।

आलोक उनियाल ने बताया कि पालिका ने शहर में वेंडर जोन घोषित कर ठेला पर लगा रहे लोगों को विस्थापित करने का फैसला लिया है। इसके बाद फड़ लाइसेंस आवंटित कर शहर के बारापत्थर, घोड़ा स्टैंड, स्नो व्यू, लैंसएंड में थान आवंटित होंगे। यह भी माना जा रहा है कि शहर के पर्यटक स्थलों पर साल भर होने वाली पर्यटकों की भीड़ देखते हुए कई स्थानीय बेरोजगार युवा फड़ लगाने चाह रहे हैं। इसीलिए मांगे गए आवेदन में 2 दर्जन से अधिक ग्रेजुएट पोस्टग्रेजुएट समेत अन्य तकनीकी शिक्षा प्राप्त युवा भी वेंडर लाइसेंस के लिए आवेदन कर रहे हैं।