उत्तराखंड: लड़के देखने गई युवती से‌ हैवानियत, फटे कपड़ो में पहुंची घर

571
people try to sell girl who went to see boy for marriage

एक मां अपने रिश्तेदारों की बात पर भरोसा कर शादी हेतु लड़के देखने के लिए अपनी बेटी को भेजती लेकिन जब युवती वापस घर लौटी तो उसकी हालत देखकर परिजनों के पैरों तले जमीन खिसक गई। युवती के कपड़े फटे और वह घायल भी थी। इस मामले में जब परिजनों ने पुलिस से शिकायत की तो पुलिस ने भी हाथ खड़े कर दिए। अब कोर्ट के आदेश के बाद 4 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। मामला उत्तराखंड के रुद्रपुर का है।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: घर में है बड़ी बेटी की शादी, गहने और नगदी लेकर छोटी बेटी फरार

हल्द्वानी कमलुवागांजा बोरा कॉलोनी निवासी आशा देवी पत्नी राम कुमार ने कोर्ट में एक शिकायती पत्र सौंपा, जिसमें उन्होंने अपनी बेटी के साथ हुई अभद्रता का जिक्र किया। पत्र के माध्यम से बताया गया कि रुद्रपुर में उसकी बहन चमेली पत्नी मोर सिंह के कहने पर उनकी बेटी रिश्तेदारों में ही शादी हेतु एक लड़के को देखने गई थी लेकिन जब बेटी घर पहुंची तो वह घायल अवस्था में थी और कपड़े भी फटे थे। पूछने पर युवती ने बताया कि राम्पुरा में वह जिस युवक को देखने गई थी वह एक उम्रदराज व्यक्ति हैं। इस बात पर जब यूपी ने शादी से इनकार किया तो चमेली, सुनील तथा चमेली के भतीजे योगेश पुत्र रामकुमार ने उसे एक कमरे में बंद कर पिटाई की और जान से मारने की धमकी देने लगे।

इसी दौरान युवती ने फोन पर अपने सौदे के बारे में सुना। फोन पर कह रहे थे कि तुम्हारी और हमारी जो पहले बात हुई थी, उसके अनुसार ₹65000 दिए हैं जबकि ₹35000 बाकी है। पैसे दो और लड़की ले जाओ। जब युवती को ले जाने लगे तो उसने किसी तरह अपनी जान बचाई और भागकर घर आ गई। परिजनों ने जब इस मामले में पुलिस से शिकायत की तो कोई कार्रवाई नहीं की गई। कोर्ट के आदेश पर आशा देवी, योगेश, चमेली और सुनील के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया है।