जोशीमठ संकट: 561 घरों में दरार 29 परिवार विस्थापित, जमीन से निकल रहा पानी

जिला प्रशासन के अनुसार जोशीमठ में 561 घरों में दरार पड़ चुकी है और 29 परिवारों को अस्थाई रूप से विस्थापित किया गया है।

273
जोशीमठ संकट: 561 घरों में दरार 29 परिवार विस्थापित, जमीन से निकल रहा पानी

चारधाम यात्रा के मुख्य पड़ाव जोशीमठ में पिछले कुछ समय से लगातार भू-धंसाव हो रहा है जिसके चलते दहशत का माहौल है। चमोली जिला प्रशासन के अनुसार 561 घरों में दरार पड़ चुकी है और 29 परिवारों को अस्थाई रूप से विस्थापित किया गया है।

यह भी पढ़ें- बेरोजगारी की मार: ठेला लगाने के लिए पोस्ट ग्रेजुएट युवा कर रहे आवेदन 

बता दें कि जोशीमठ में हो रहे भारी भू-धंसाव को लेकर बुधवार को स्थानीय लोगों ने मशाल जुलूस निकालकर विरोध प्रदर्शन किया। स्थानीय लोगों ने जल विद्युत परियोजना एनटीपीसी के खिलाफ नारेबाजी की और जल्द से जल्द जोशीमठ में कार्यरत जल विद्युत परियोजना के कार्य को रोकने की मांग की।

गौरतलब है कि बीते वर्ष नवंबर माह से जोशीमठ में जमीन धंसने की घटनाएं सामने आई थी लेकिन अब यहां मकानों में बड़ी-बड़ी दरारें देखने को मिल रही है और जगह-जगह से धरती फाड़ कर पानी निकलने लगा है। जिसके चलते पूरे जोशीमठ में हड़कंप मच गया है। वहीं उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस मामले को लेकर कहा कि वह एक टीम के साथ खुद जाकर जायजा लेंगे।

 

561 घरों में दरार

चमोली जिला प्रशासन के अनुसार जोशीमठ के 9 वार्डों से कुल 561 घरों में स्पष्ट दरार देखी जा रही है। जिनमें से गांधीनगर 127, मारवाड़ी 28, लोअर बाजार 24, सिंहधार 52, मनोहर बाग 71, अपर बाजार 29, सुनील 27, परसाली 50 और रविग्रांम में कुल 153 घरों में दरारें पड़ चुकी है। इसके अलावा 2 होटल ( mount view & Malari in) को सुरक्षा की दृष्टि से बंद कराया गया है।

सुरक्षा के कारणों के चलते 29 परिवारों को अस्थाई रूप से विस्थापित किया गया है। 14 परिवार नगर पालिका जोशीमठ, 03 प्राथमिक विद्यालय जोशीमठ, 01 परिवार मिलन केंद्र, 3 परिवार गुरुद्वारा और 8 परिवार रिश्तेदारों के यहां अस्थाई रूप से विस्थापित किए गए हैं। किसी भी प्रकार की समस्या / शिकायत हेतु निम्नलिखित दूरभाष नम्बरों पर सम्पर्क किया जा सकता है- कन्ट्रोल रूम तहसील जोशीमठ- 8171748802

 

जनपद आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण, चमोली दूरभाष नम्बर: 01372-251437.1077 (टोल फ्री) 9088187120, 70557124