हल्द्वानी अतिक्रमण को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, दिल्ली पहुंचे कांग्रेस नेता

हल्द्वानी में अतिक्रमण हटाने को लेकर अब सबकी निगाहें सुप्रीम कोर्ट पर है इस मामले में आज सुनवाई होनी है। कांग्रेस के कई दिग्गज नेता दिल्ली पहुंच चुके हैं।

238
हल्द्वानी अतिक्रमण को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, दिल्ली पहुंचे कांग्रेस नेता

हल्द्वानी में अतिक्रमण हटाने को लेकर अब सबकी निगाहें सुप्रीम कोर्ट पर है इस मामले में आज सुनवाई होनी है। कांग्रेस के कई दिग्गज नेता दिल्ली पहुंच चुके हैं।

उत्तराखंड: मदरसों की अन्य गतिविधियों पर पुलिस रखे नजर, सीएम धामी ने दिए निर्देश

बता दें कि उत्तराखंड हाई कोर्ट के आदेश पर रेलवे की जमीन से अतिक्रमण हटाने के खिलाफ हल्द्वानी के बनभूलपुरा इलाके में प्रदर्शन जारी है। वही प्रशासन भी बारिश सुरक्षाबलों के बीच अपनी कार्रवाई करने को तैयार है। रेलवे स्टेशन के पास अनाधिकृत कॉलोनियों को हटाने का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। इस मामले में प्रशांत भूषण ने एक याचिका शीर्ष अदालत में दायर की जिसके सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट तैयार हो गया है।

SC में दाखिल याचिका में स्थानीय याचिकाकर्ताओं ने दावा किया है कि उनके पास वैध दस्तावेज है जो स्पष्ट रूप से उनके वैध अधिकार को स्थापित करते हैं। इसके अतिरिक्त वह नियमित रूप से गृह कर का भी भुगतान कर रहे हैं। रेलवे की 29 एकड़ जमीन पर अतिक्रमण हटाने के उत्तराखंड हाई कोर्ट के निर्देश को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट आज सुनवाई करेगा।

haldwani encroachment: अतिक्रमण को लेकर आईजी नीलेश आनंद भरणे ने कही यह बात 

गौरतलब है कि कांग्रेस इस मुद्दे को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साध रही है। यह मुद्दा अब कांग्रेस की प्रतिष्ठा का प्रश्न बन गया है। गत दिवस कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष करण माहरा, हल्द्वानी विधायक सुमित हृदेश, उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप और कांग्रेस विधायक दल के उप नेता भुवन कापड़ी दिल्ली पहुंचे। अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि कांग्रेस हल्द्वानी के 50 हजार लोगों की छत को बचाने के लिए प्रतिबद्ध है।