उत्तराखंड: गर्भ में पल रहे आठ माह के शिशु की मौत…

नैनीताल जनपद के तल्लीताल क्षेत्र में कमरे में अंगीठी ताप रहे दंपति बेहोश हो गए, जिससे महिला के गर्भ में पल रहे आठ माह के शिशु की मौत हो गई।

182
उत्तराखंड: गर्भ में पल रहे आठ माह के शिशु की मौत
प्रतीकात्मक चित्र

अगर आप सर्दियों में अंगीठी या कोयला जलाते हैं तो सावधान रहें, क्योंकि यह हर किसी के लिए खतरनाक है। बंद कमरे में अंगूठी जलाने एक बार फिर जानलेवा साबित हुआ। नैनीताल जनपद ठंड से बचने को आग ताप रहे दंपति अंगूठी से निकलने वाली गैस से बेहोश हो गए। जानकारी मिलने पर आसपास के लोग दंपति को नजदीकी अस्पताल ले गए। सही समय पर अस्पताल पहुंचने से दंपति सही सलामत है लेकिन महिला के गर्भ में पल रहे आठ माह के शिशु की मौत हो गई। शिशु के मौत का कारण अंगीठी ने निकली गैस बताई जा रही है।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: कुर्सी के सहारे 8 किमी पैदल चलकर गर्भवती महिला को पहुंचाया सड़क तक

जानकारी के अनुसार नैनीताल जनपद के तल्लीताल क्षेत्र में शनिवार को गर्भवती दीपिका अपने पति ललित के साथ ठंड से बचने को अंगीठी जलाकर ताप रही थी। इसी दौरान अंगीठी से निकली गैस की वजह से दोनों बेहोश हो गए। जिसकी जानकारी मिलने पर दोनों लोगों को तत्काल बीडी पांडे अस्पताल ले जाकर भर्ती किया गया। डॉक्टरों के अनुसार अंगीठी की गैस का असर महिला के पेट में पल रहे आठ माह के शिशु पर भी हुआ, जिससे बच्चे की मौत हो गई। महिला के पति को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है जबकि महिला का इलाज चल रहा है।