उत्तराखंड: भोजन माता के भरोसे स्कूल, शिक्षक लापता

232
उत्तराखंड: भोजन माता के भरोसे स्कूल, शिक्षक लापता

बच्चे हमारे देश का भविष्य है इसलिए हमें उन्हें अच्छी नैतिकता और बेहतर तरीके से शिक्षा ग्रहण करने पर जोर देना चाहिए जिससे वह भविष्य में एक जिम्मेदार व्यक्ति बन सके। बच्चों के समग्र व्यक्तित्व के आधार का निर्माण करने में स्कूल शिक्षकों का बड़ा योगदान है लेकिन कुछ शिक्षकों द्वारा बच्चों का भविष्य सुधारने की बजाय उनके भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है। ऐसा ही मामला चंपावत जनपद में देखने को मिला जहां विद्यालय में भोजन माता के भरोसे चल रहा है।‌ सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने विद्यालय की प्रधानाध्यापिका पर कार्रवाई करते हुए उनकी सेवा को तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया है।

यह भी पढ़ें- आदर्श विद्यालय का हाल: दो शिक्षको के भरोसे स्कूल, मुश्किल में बच्चों की पढ़ाई

चंपावत जनपद के बाराकोट ब्लॉक के दूरस्थ बोतड़ी ग्राम के प्राथमिक विद्यालय का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। स्कूल में क्लास तो लगी हुई है लेकिन पढाने के लिए एक शिक्षक भी मौजूद नहीं थे। पूरा विद्यालय सिर्फ भोजन माता के भरोसे चल रहा है। सोशल मीडिया में वीडियो वायरल होने के बाद चंपावत जनपद के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी चरण सिंह बिष्ट ने बताया कि विद्यालय में 3 शिक्षक तैनात हैं जिनमें से 2 अवकाश पर हैं।

विद्यालय की प्रधानाध्यापिका माया पुनेठा वर्तमान में विद्यालय में इकलौती शिक्षिका हैं और उनके द्वारा ही लापरवाही बरती गई थी। जिसको देखते हुए उनकी सेवा कब बढ़ाया गया समय तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया गया है तथा अन्य छुट्टी पर गए शिक्षकों को तुरंत ड्यूटी पर रिपोर्ट करने के आदेश जारी किए गए हैं।