पहाड़ की बेटी मनीषा को दें बधाई, देश में प्राप्त किया प्रथम स्थान

बागेश्वर जनपद की मनीषा रावल ने राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित कला उत्सव में मनीषा ने खेल खिलौना विधा में प्रथम पुरस्कार हासिल किया।

295
बागेश्वर की मनीषा रावल को राष्ट्रीय स्तर पर मिला प्रथम स्थान

विषम भौगोलिक परिस्थितियों तथा मूलभूत सुविधाओं के अभाव वाले पहाड़ी राज्य उत्तराखंड के दूरस्थ गांवों में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। एक बार मंच मिलने पर अपनी प्रतिभाओं का हुनर दिखाते हुए अपना लोहा मनवाया है। एक बार फिर इसी बात को साबित कर दिखाया बागेश्वर की मनीषा रावल ने, राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित कला उत्सव प्रतियोगिता 2022-23 में मनीषा ने पूरे देश में प्रथम स्थान प्राप्त करें जीत का परचम लहराया। बेटी की इस उपलब्धि से परिवार में हर्षोल्लास का माहौल है।‌ उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मनीषा की इस उपलब्धि पर उन्हें बधाई दी है। बागेश्वर जनपद के एक गांव निवासी मनीषा रावल रा.इ.का. सलानी में कक्षा 9 वी की छात्रा है। राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित कला उत्सव में मनीषा ने खेल खिलौना विधा में प्रथम पुरस्कार हासिल किया।

 

यह भी पढ़ें- Uttarahand: फॉरेस्ट गार्ड भर्ती परीक्षा का एडमिट कार्ड जारी, इस तारीख से करें डाउनलोड 

बताते चलें कि भारत सरकार द्वारा 3 जनवरी से 7 जनवरी 2023 तक भुवनेश्वर उड़ीसा में कला उत्सव प्रतियोगिता 2023 आयोजित की गई थी। 7 जनवरी को राष्ट्रीय स्तरीय कला उत्सव प्रतियोगिता के समापन पर परिणाम घोषित किए गए। केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान द्वारा विजेता प्रतियोगिताओं को पुरस्कृत किया गया, जिसमें बागेश्वर की कक्षा नौवीं की छात्रा कु. मनीषा रावल ने राष्ट्रीय स्तर पर स्थानीय खेल खिलौनों में अथक मेहनत और प्रयास से राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त किया। मनीषा द्वारा काष्ठ कला के माध्यम से सनातन धर्म की यज्ञ में प्रयुक्त होने वाली सामग्री तथा बच्चों के खिलौने तैयार किए गए। इसमें सामान्य कास्ट का प्रयोग किया गया जो पर्यावरण के अनुकूल भी है। मनीषा द्वारा कास्ट कला उत्पादों को स्वयं ही तैयार किए गए थे जिन्हें आयोजकों ने खासा पसंद किया। मनीषा ने अपनी इस अभूतपूर्व उपलब्धि का श्रेय अपने माता-पिता एवं शिक्षक डॉ हरीश दफौटी को दिया है। शिक्षक हरीश के मार्गदर्शन में ही मनीषा ने यह खिलौने तैयार किए थे।